कोरोना में जहाँ हर तरफ मंदी का दौर है. स्कूल से लेकर कालेज के विद्यार्थी अपनी फीस को लेकर परेशान हैं.

कोरोना काल में बंद के दौरान स्कूल से फीस न लेने की गुजारिश की जा रही है.

लेकिन अगर आपको उत्तराखंड के आईटीआई के नए सत्र में प्रवेश लेना है तो आपको अब दस गुना फीस ज्यादा देनी पड़ेगी.

व्यावसायिक परीक्षा परिषद के अब प्रत्येक ट्रेड में दाखिला लेने वाले सामान्य वर्ग के छात्रों को 40 रूपये की जगह 3900 रुपये सालाना फीस देनी होगी.

पिछले साल तक 40 रुपये के अलावा 50 रुपये कॉशनमनी जमा होती थी. जिसे अब बढ़ाकर 300 रूपये कर दिया गया है.

शासन द्वारा प्रधानाचार्यों को भेजे गए आदेश में अभ्यर्थियों से फीस जमा कराने को कहा गया है.

निदेशालय ने कोरोना महामारी को देखते हुए छात्रों को प्रवेश के समय एकमुश्त 2200 रुपये जमा करने की सुविधा दी है.

आरक्षित वर्ग के छात्रों को एकमुश्त 1200 रुपये फीस जमा करनी होगी.

विभाग ने निर्देश दिया है कि स्थितियां सामान्य होने पर बाकी फीस जमा कराई जा सकती है.

स्व-वित्त पोषित सीटों की फीस दस हजार

आईटीआई में राज्य की सीटों से इतर तृतीय शिफ्ट और आईएमसी के सापेक्ष प्रवेश के लिए 10 हजार रुपये फीस जमा करनी होगी.

हल्द्वानी आईटीआई में इलेक्ट्रिशियन और फिटर ट्रेड में सेल्फ फाइनेंस की 20-20 सीटें आवंटित की गई हैं. 


फीस की नयी वार्षिक दरें (रुपये ) कुछ इस प्रकार है.

एडमीशन शुल्क                                   200 
प्रशिक्षण शुल्क                               1000 
परिचय शुल्क                                   50  
प्रशिक्षार्थी वेलफेयर शुल्क                  150 
भवन संबंधी मरम्मत कार्य शुल्क          400 
जल तथा विद्युत शुल्क                      300 
प्रशिक्षण और नियोजन शुल्क               400 
पुस्तकालय शुल्क                             100 
कंप्यूटर शुल्क                                  1000  
संस्थान स्तर पर शुल्क (काशनमनी)       300 
कुल                                              3900