भोपाल में 22 साल की लड़की ने बीमार मां को अस्पताल में भर्ती करने से एक दिन पहले फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. मां को टीबी होने के बाद से वह परेशान थी. लड़की अपनी मां और भाइयों के साथ मामा के यहां रह रही थी.

इंद्रा नगर, टीला जमालपुरा निवासी 42 वर्षीय सुनील कैथिल प्राइवेट जॉब करते हैं. उन्होंने पुलिस को कहा कि उनकी बहन का करीब 3 साल पहले तलाक हो गया था. इसके बाद से बहन अपने दोनों बेटों और 22 साल की बेटी रेखा बेलिया के साथ उन्हीं के घर पर रहती थीं. रात करीब 11 बजे उन्होंने पत्नी से रेखा के बारे में पूछा तो पत्नी ने बताया कि रेखा फर्स्ट फ्लोर पर अपने कमरे में है.

काफी देर तक उसकी कोई आवाज नहीं आने पर वे उसे देखने उसके कमरे में गए, तो दरवाजा अंदर से बंद था. उन्होंने परिजन की मदद से किसी तरह दरवाजा खोला, तो अंदर रेखा दुपट्टे से लटकी दिखाई दी. जब तक परिजन पहुंचे तब तक उसकी मौत हो चुकी थी. घटना की जानकारी करीब एक बजे रात पुलिस को मिली.

नहीं मिला कोई सुसाइड नोट

मामले की जांच कर रहे, विवेचना अधिकारी मान सिंह ने बोला कि मौके से किसी तरह का कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. न ही परिजन ने किसी तरह की आशंका जताई है. ऐसे में आधिकारिक तौर पर अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा, लेकिन परिजन ने रेखा के मानसिक तनाव में होने की बात कही है.

तनाव में थी रेखा

मृतक के मामा सुनील ने पुलिस को बताया कि रेखा फिलहाल कुछ नहीं कर रही थी. वह मां के काम में ही हाथ बटा देती थी. उसकी मां को टीवी हो गया है जिसकी वजह से उसकी तबीयत खराब चल रही थी. इसीलिए उन्हें अस्पताल में भर्ती करना था. इसको लेकर रेखा बेहद तनाव में थी.

परिजन ने बताया की वह एक-दो दिन से गुमसुम भी रह रही थी, लेकिन उसने किसी से कुछ कहा नहीं था. ऐसे में उन्हें समझ नहीं आया था कि वह इस तरह का कोई दर्दनाक कदम भी उठा सकती है. रेखा के पिता हरि सिंह करीब 3 साल से तलाक लेकर अलग रह रहे हैं. उनसे अब कोई संपर्क नहीं है.